कश्मकश……



मैने कहा  वो अजनबी है ,
दिल ने कहा ये दिल कि लगी है 
मैने कहा वो सपना है ,
दिल ने कहा वो फ़िर् भी अपना है
मैने कहा ये दो पल कि मुलाकात है ,
दिल ने कहा ये सदियो का साथ है 
मैने कहा वहा मेरी हार है ,
दिल ने कहा वहि तो “प्यार ” है …………..

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *