Aaj phir udas hai jindgi

आज फिर उदास है जिंदगी
ए जिंदगी तू क्या रंग लाएगी

समझ न पाया कोई
तू क्या मुझे समझ पाएगी
दर्द दिया है इस सिने में
क्यो तूने है मुझे रुलाया
इंतेज़्ज़र है जिसका मुझे
उनसे क्यो तूने मुझे न मिलाया
मिल भी गये गर कभी
तो क्या अंजाम देगी तू, ए जिंदगी
टूटे दिल को तूने मारना भी न सिखाया

***

aaj phir udas hai jindgi
e jindgi tu kya rang layegi
samajh na paya koi
tu kya mujhe samajh payegi
dard diya hai is sine mein
kyo tune hai mujhe rulaya
intezzar hai jiska mujhe
unse kyo tune mujhe na milaya
mil bhi gaye gar kabhi
to kya anjam degi tu, e jindgi
tute dil ko tune marna bhi na sikhaya


Tags:

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *