एक लकीर तेरे नाम की ..

Hindi Poems

कुछ उदास कुछ खामोश कुछ बेबस से लकीरे मेरे हाथ की.. ढूंढती रहती हूं अक्सर इन लकीरों मैं एक लकीर तेरे नाम की कुछ मालूम भी हे ….. कुछ दिल भी जनता हे …. के इन लकीरों में कोई लकीर नही तेरे नाम की …. फिर भी ना जाने क्यों ढूढती रहती हूं ….. अक्सर एक लकीर तेरे नाम की …… एक लकीर तेरे नाम की…. ! एक लकीर तेरे प्यार की…. ! पलक ………..