Proud of u…




 एक फ़ौजी  के दिल् कि बात …

जब वो युद्ध पर जाता है तो अपने साथी से बोलता है :


जब मे शहिद  हो जाउ….


“साथी घर जाकर मत कहना,संकेतो में बतला देना..”


मेरा हाल मेरी बहना पूछे तो, सर उसका सहला देना


इतने पर भी न समझे तो, राखी तोड़ देखा देना !


“साथी घर जाकर मत कहना,संकेतो में बतला देना..”


मेरा हाल मेरे पत्नी पूछे तो, मस्तक को झुका लेना

इतने पर भी न समझे तो, मांग का सिन्दूर मिटा देना !

“साथी घर जाकर मत कहना,संकेतो में बतला देना ..”


मेरा हाल मेरी माँ पूछे तो, दो आंसू छलका देना


इतने पर भी न समझे तो, जलता दीप बुझा देना !


“साथी घर जाकर मत कहना,संकेतो में बतला देना..”


मेरा हाल मेरे बूढ़े पिता पूछे तो, हाथो को सहला देना


इतने पर भी न समझे तो, लाठी तोड़ दिखा देना …!


ना कहना किसी से शब्दॊ से

बस बतला देना संकेतो में 

 कि अब ना मै वापिस आउगा 

ना आउगा ……………..

* Dedicated to all soldiers of our country..Specially dedicated to very special person of my life..  

Palak …..

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *