हमें इंतज़ार हैं

palak

टकटकी सी एक आंखों में रहती हैं दिल में बस आपका ही ख्याल रहता हैं यूँ इंनायत से नज़ारे ना मिलाया कीजिये दिल मेरा बड़ा बेकरार रहता हैं की एक अनकही सी बात कह जाती हैं नज़र आपकी अरे आपके एक उफ़ का भी बड़ी बेसब्री से हमें इंतज़ार रहता हैं…